Nafarman Aulad Ke Liye Wazifa

Nafarman Aulad Ke Liye Wazifa
Rate this post

Nafarman Aulad Ke Liye Wazifa

Nafarman Aulad Ke Liye Wazifa, “पहले जमाने के बच्चे अपनी मां बाप की इज्जत करते हैं। बच्चों के लिए माँ बाप से बढ़कर इस दुनिया में कोई नहीं था। माँ बाप की इजाज़त के बिना बच्चे घरो से बाहर अपना कदम तक नहीं रखते थे। अपनी माँ बाप आदर किया करते थे। लेकिन आज के समय में अधिकतर बच्चे नाफ़रमान बन गए हैं। वो अपनी माँ बाप की आज्ञा का पालन नहीं करते हैं।

अपनी माँ बाप की बातों को एक कान से सुनते हैं। और दूसरे कान से बाहर निकल जाते हैं। ऐसे में माँ बाप का फ़र्ज़ बनता है, कि वो अपने Nafarman Aulad Ke Liye Wazifa करे। जिसकी इस वज़ीफ़ा की फ़ज़िलत से अपनी औलाद नेक और समझदार बन जाएगी।

आप सोचते हैं, औलाद की परवरिश करने में आपने कोई कमी नहीं छोड़ी। लेकिन औलाद नाफ़रमान निकल जायेगी। ये कभी सपने में भी नहीं सोचा था। आज हर घर में इसी बात को लेकर अक्सर मां बाप परेशान रहते हैं। इसलिए वो कुरान पाक से Nafarman Aulad Ke Liye Wazifa निकाल कर पढ़ते हैं। लेकिन उनको वज़ीफ़ा पढ़ने का सही समय और तरीका अच्छे से पता नहीं होता है। आज मैं आपको नाफ़रमान औलाद के लिए कुछ शक्तिशाली वज़ीफ़ा और अमल बताने जा रहा हूँ।

हर माँ बाप को पाता होता है, कि जो बच्चे माँ बाप को दुःख पहुंचते है, और उनके सामने गलत शब्दों का इस्तेमाल करते है। आने वाले समय में वो बच्चे बर्बाद हो जाएंगे, इसी बर्बादी से बचने के लिए मां बाप अपनी औलाद को अच्छा बनने में लगे रहते हैं।

दोस्तों अल्लाह का दिया हुआ सबसे खूबसूरत वालिदेन ही होते है। माँ बाप और उनके बच्चे का रिश्ता बहुत नाज़ुक और प्यारा होता है। बच्चे चाहे कितने भी गलत क्यों न हो जाये। लेकिन उनके माँ बाप अपने बच्चों को हमेशा सही ही समझते हैं। वो अपने बच्चों की अच्छाई और बुराई पर हमेशा पर्दा डाल देते है।

जब सब लोग आपका साथ छोड़ देते हैं, तब वालिदैन ही बच्चों का सहारा बनते हैं। लेकिन आज के नाफ़रमान औलाद को इस बात का ज़रा सा भी फ़र्क नहीं है। जब बच्चे कमाने लग जाते हैं। और उनके पास थोड़े पैसे आ जाते हैं, तो वो अपनी माँ बाप को कद्र करनी ही भूल जाते हैं। कुछ इतने नाफ़रमान औलाद होती है, कि वो वो अपने वालिदैन को घर से बाहर ही निकाल देते है।

Ziddi Aur Nafarman Aulad Ke Liye Wazifa

अक्सर देखा जाता है, जो छोटे बच्चे होते हैं, वो किसी ना किसी बात पर जिद कर लिया करते हैं। वो छोटी छोटी बातों पर अपनी माँ बाप से गुस्सा होकर बैठ जाते है। लेकिन मुश्किलें तो तब बढ़ जाती है। जब वो बच्चे बड़े हो जाते हैं। इसलिए अगर आपका बच्चा अभी छोटा है, और वो ज़िद्दी है। तो आप आज ही Ziddi Aulad Ke Liye Wazifa जरूर पढ़ें। इस वज़ीफ़ा के असर से आपका बच्चा ज़िद करनी छोड़ देगा। और आपके इशारों पर चलने लग जायेगा।

Nafarman Aulad Ke Liye Wazifa

जब बच्चों की ज़रूरत पूरी नहीं होती है, तो वो अपने माँ बाप से उसे पूरी करने की ज़िद करने लगते हैं। आज के महगाई और हालात को देखकर माँ बाप अपने बच्चों की हर ज़रूरत को पूरा नहीं कर सकते है। आप बच्चों को समझने की कोशिश भी करते हैं। लेकिन बच्चे अपनी ज़िद पर ही अड़े रहते हैं। ऐसे मुस्किल समय में आप Nafarman Aulad Ke Liye Wazifa पढ़ कर। अपनी औलाद की ज़िद्दी को हमेशा के लिए खत्म कर सकते हैं।

  1. इस वज़ीफ़ा को सिर्फ माँ ही करे, बाप को करने की इजाज़त नहीं है।
  2. किसी भी शाम आपको एक गिलास पानी का भर लेना है।
  3. अब उस गिलास को अपने सीधे हाथ में पकड़ कर इस मंत्र को 101 मर्तबा पढ़ना है।
  4. मंत्र है- या हमीदु या सहिदु
  5. और आख़िर में उस पानी पर ज़ोर से एक बार फूंक मारनी है।
  6. उसके बाद जब बच्चा सो जाए, तब उसके बिस्तर या चारपाई के नीचे वो पानी का गिलास रख देना है।
  7. और सुबह जब आपका बच्चा उठ जाए, तो वो ही पानी उसको पिला देना है।

ये वज़ीफ़ा आपको लगातार 3 दिन तक करना है। आपको पहले ही दिन इसका असर दिखने लग जाएगा। इस वज़ीफ़ा को करने के दूसरे दिन से आपका बच्चा ज़िद्दी करने के लिए बंद कर देगा। उसके दिल में माँ बाप के प्रति बेशुमार मोहब्बत पैदा हो जाएगी। वो कोई भी काम करेगा, तो सबसे पहले आपको ही पूछेगा।

Aulad ko Farmabardar Banane Ka Amal

जो बच्चा अपने वालिदैन से बात-बात पर नजर हो जाता है। ऐसे में माँ बाप को समझ लेना चाहिए, कि उनकी औलाद नाफ़रमान बन गई है। ऐसे में आप Aulad Ko Farmabardar Banane Ka Amal कर सकते हैं। इस अमल में इतनी ज्यादा ताकत है, कि ये आपकी औलाद को पूरी तरह से बदल देगा।

Nafarman Aulad Ke Liye Wazifa

अगर आपने घर का कोई काम औलाद से करने को कहा है। लेकिन आपके बच्चे ने उस काम को करने से माना कर दिया है। इससे आप जान सकते हैं, कि आपके बच्चे नाफ़रमानी के रास्ते पर निकल पड़े हैं। आज इस अमल को करने के बाद आपकी औलाद हमेशा के लिए नैक और फरमाबरदार औलाद में तब्दील हो जाएगी।

जब बच्चे घर से बाहर जाते हैं, तो माँ बाप के दिल में हमेशा बेचैनी रहती है। उनको अपनी औलाद की हर घड़ी चिंता सताती रहती है। हर वक़्त दरवाज़े पर नज़रें बिछाये रखते हैं, की कब मेरा बच्चा घर आएगा। लेकिन बच्चा बिना आधी आधी देर रात को घर आता है। आप कुछ सवाल जवाब पूछते हैं, तो वो आपके ऊपर ही चिल्लाकर बोलने लग जाता है। ऐसे बुरे समय में आप Aulad Ko Farmabardar Banane Ka Amal कर सकते हैं।

  1. इस अमल को आप सिर्फ शुक्रवार की शाम 6 बजे के बाद ही करें।
  2. आपका बाज़ार से एक बंद ताला चाबी लेकर आना है। ध्यान रहे कि उसको खोल कर नहीं देखना है।
  3. अब इस ताला और चाबी को अपने सामने रखना है। और इस दुआ को 313 बार पढ़ना है।
  4. दुआ है- व हदैनाहुमस्सिरातल् मुस्तकीम
  5. इतना करने के बाद आपको ताला और चाबी को किसी सुनसान रास्ते में रख कर घर आ जाना है।
  6. बस आपको इस बात का खास ध्यान रखना है, रास्ते में आपको पीछे मुड़कर बिल्कुल नहीं देखना है।

अल्लाह के फ़रिश्ते इस अमल के ज़रिये आपकी बिगाड़ी हुई औलाद को सुधार देंगे। आपके बच्चे के लिए नेकियों के दरवाज़े खोल देंगे। जो बच्चा आपको कल तक भटक गया था। आज वो सही रास्ते पर चलने लग जायेगा।

Nafarman Aulad Ko Naik Banane Ki Dua

पहले के समय में जब बच्चे सुबह उठते थे। तब माँ बाप के पैरों को छूकर उनका आशीर्वाद लिया करते थे। लेकिन आज के बच्चे जब सुबह उठते हैं, तो उनके माँ बाप धूप में, और बारिश में काम करने निकल जाते हैं। आज के समय में औलाद नैक पैदा नहीं होती है।

Nafarman Aulad Ke Liye Wazifa

समय ने ऐसी करवट ली है, की बच्चे अपने माँ बाप पर जुल्म करते हैं। पड़ोसियों के सामने अपने माँ बाप को ज़लील करते है। लेकिन फिर भी माँ बाप अपने बच्चों के सामने कुछ नहीं बोल पाते हैं। आख़िर में जब ज़ुल्म का घड़ा भर जाता है, तब अल्लाह उनके बच्चों पर कयामत का कहर बरसता है।

अल्लाह के कहर से अपने बच्चों को बचाने के लिए माँ बाप मोलवी से बच्चों के लिए दुआ करवाते है। लेकिन जब दुआ से उनके बच्चों पर कोई असर नहीं पड़ता है। तब वो सिर्फ अल्लाह तल्लाह को ही याद करते है। अल्लाह ने कुरान पाक में Nafarman Aulad Ko Naik Banane Ki Dua बताई है।

  1. इस अमल को सिर्फ एक ही दिन करना है।
  2. जब आप सुबह अपने बच्चों के लिए चाय बनाएं, तब आपको ये अमल करना है।
  3. आपको 3 हरी इलायची को अपने उल्टे हाथ की हथेली पर रखनी है।
  4. इस मंत्र को 41 बार पढ़ कर इलायची पर 3 बार फूंक मारनी है।
  5. मंत्र है- रब्बी ला ताजर्नी फरदान वा अंता खैरुल पैरिसन
  6. उसके बाद तीनो इलायची को चाय में डाल कर, अपने नाफ़रमान बच्चों को पिला देनी है।

नमाज सदका रोजा रखने से आप खुश नहीं रह सकते। क्योंकि जिस वक्त आपने मां बाप को दुख पूछा, तब अल्लाह के फ़रिश्तों ने आपके ऊपर लानत भेजी थी। लेकिन आज का अमल करने के बाद आपकी पुरानी सभी गलतियाँ अल्लाह ताला माफ कर देगा।

जो बच्चा आपका पहले बदतमीज़ था। जिसको बोलने का सलिका मालूम नहीं था। इस दुआ को पढ़ने के बाद वो बच्चा कोयल के जैसी मीठी मीठी बातें बोलने लग जाएगा।

Nafarman Biwi Ke Liye Dua

दोस्तो दुनिया का सबसे खतरनाक हत्यारा जिसको माना गया है, वो है जुबान। किसी भी चोट पर मरहम लगाओ तो वो घाव जल्दी भर जाता है। लेकिन ज़ुबान से किया गया वार, जिंदगी लग जाती है। लेकिन वो ज़ख्म कभी भरा नहीं जा सकता है। कुछ लोगों की बीवी इतनी नफरमान किस्म की होती है, कि उनको कब, कहां, और क्या बोलना है। ये सब बातों का पता ही नहीं होता है। ऐसे में आप अपनी Nafarman Biwi Ke Liye Dua पढ़ सकते हैं। और अपनी बीवी को फरमादार औरत बना सकते है।

Nafarman Aulad Ke Liye Wazifa

शादी के कुछ साल तक बीवी अपने शौहर की इज्जत करती है। उसको प्यार से बोलती है। लोग कहते हैं, शादी की जोड़ी अल्लाह आसमान से बनकर ही ज़मीन पर भेजता है। लेकिन ऐसा क्या हो जाता है, ज़मीन पर आते हैं। दोनों मिया बीवी के दिलों में दरार पैदा हो जाती है। शादी के 2-3 साल बाद बीवी अपना रंग दिखाना शुरू कर देती है। अगर बीवी अपने शौहर के सामने जुबान चलने लगे तो वो घर कभी नहीं बस सकता है।

  1. यह दुआ है कि आप कोई भी दिन पढ़ सकते हैं। पढने का तरीका आप जान लीजिये।
  2. जब रात को बीवी बिस्तर पर सो जाये। तब उसके सर के पास खड़े होकर इस दुआ को पढ़ना है।
  3. सबसे पहले अव्वल और आख़िर 3-3 मर्तबा कोई भी दरूद ए पाक पढ़े।
  4. और इसके बीच 41 मर्तबा ये दुआ पढ़े- या मनिउ या सुभानु या दयानु
  5. दुआ आपको इतनी ही आवाज में पढ़ना है, जिससे आपकी बीवी नींद से से न जाग जाये।

इस अमल को करने के बाद नाफ़रमान बीवी भी अपने शौहर की इजाज़त करने लग जाएगी। बीवी अपने शौहर की हमेशा के लिए गुलाम बन जाएगी। आपकी उंगलियों के इशारों पर नाचने लग जाएगी। और बीवी के दिल शोहर की मोहब्बत भी पैदा हो जाएगी। बस आप सभी से एक गुज़ारिश है। इस अमल का गलत इस्तेमाल या किसी दूसरे की बीवी पर ना करे। ये अमल एक औरत अपने नाफ़रमान शौहर के लिए भी कर सकती है।

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *