Talaq Rokne Ki Behtreen Dua

Talaq Rokne Ki Behtreen Dua
Rate this post

Talaq Rokne Ki Behtreen Dua

Talaq Rokne Ki Behtreen Dua, “दोस्तो क्या आपके घर में रोज कलेश होता है? छोटी-छोटी बात पर शौहर तलाक़ देने की बात बोल देता है। तलाक़ की बात सुनकर आपका दिल रोने लग जाता है, तो आप Talaq Rokne Ki Behtreen Dua को जरूर पढ़ें। इंशा अल्लाह आपके शौहर के दिल में आपके लिए पहले जैसी मोहब्बत पैदा हो जाएगी।

दोस्तो जब माँ बाप अपनी बेटी के रिश्ते के लिए लड़का देखने जाते है, तो माँ बाप लड़के को समझकर और परिवार को परख कर ही रिश्ता पक्का करते है। शादी होने के बाद बेटी को घर से ख़ुशी ख़ुशी विदा किया जाता है। शादी के कुछ साल तक मिया बीवी दोनों में बहुत मोहब्बत रहती है। दोनों एक दूसरे की भावना को अच्छे से समझते है।

लेकिन अचानक शौहर के दिल में ऐसा तूफ़ान उठता है, कि घर में रोज़ अपनी बीवी के साथ लड़ाई झगडे करना शुरू कर देता है। अपनी बीवी को भला बुरा कहने लग जाता है। बात-बात पर बीवी को रुलाना शुरू कर देता है। औरत फिर भी चुप चाप सहन करती जाती है।

औरत सोचती है, कि कहा मेरे माँ बाप ने मेरी शादी करवा दी। फिर एक दिन ऐसा आता है। वो बात एक औरत अपने सपने में भी नहीं सोच सकती है। उसका शौहर गुस्से में आकर कर तलाक़ देने की बात कह देता है।

Talaq Se Bachne Ki Dua

जब किसी घर में तलाक़ की बात शुरू हो जाती है, तो एक औरत पर क्या गुजरती है। वो दर्द औरत से बेहतर कोई नहीं समझ सकता है। घर कब्रिस्तान जैसा लगने लग जाता है। शादी के बाद औरत अपनी माँ बाप, बहन बहनों को सबको छोड़कर शौहर के घर आती है। और शौहर उसे तलाक़ देने की बात कहता है, तो औरत अंदर से पूरी तरह टूट जाती है। जब शौहर तलाक़ की बात कह देता है, तो उसके बाद औरत Talaq Se Bachne Ki Dua पढ़ती है। लेकिन उसका भी असर नहीं हो पता है। जिस औरत के शौहर तलाक़ देने की बात कह रहा है। वो औरत इस शक्तिशाली दुआ को जरूर पढ़े।

Talaq Rokne Ki Behtreen Dua

मिया बीवी में जब रिश्ता अच्छा चल रहा है, तो लोग आपस में जलन रखने लग जाते हैं। वो चाहते हैं, कि आप दोनों के बीच नफ़रत पैदा हो जाए। कुछ लोग इतने ज़ालिम होते हैं, कि मिया बीवी का रिश्ता ख़तम करवाने के लिए उन पर काला जादू भी कर देते हैं। जादू के असर से मिया बीवी में तलाक़ की नौबत आ जाती है। अगर समय रहते तलाक़ से बचने की दुआ न पढ़ी जाए, तो दोनों में तलाक़ भी हो सकता है।

Talaq Rokne Ka Wazifa

अल्लाह तल्लाह की नज़र में सबसे बड़ा गुनाह तलाक़ ही है। मिया बीवी में लड़ाई झगड़ा होना एक आम बात है। लेकिन बात तब गंभीर हो जाती है। जब शौहर 3 तलाक़ की बात अपनी बीवी के सामने रख देता है। मिया बीवी के बीच रिश्ते को खत्म करना ही तलाक़ माना गया है। जब दोनों में पूरी तरह से मोहब्बत खत्म हो जाती है। एक दूसरे का चेहरा तक देखना  पसंद नहीं करते है। तो बात तलाक़ पर आ ही जाती है। लेकिन अब आपको परेशान नहीं पड़ेगा। क्योकी कुरान में Talaq Rokne ka Wazifa दिया गया है। जिसे आप अमल में लाकर अपना रिश्ता खत्म होने से बचा सकते हैं।

Talaq Rokne Ki Behtreen Dua

  • जो औरत ये वज़ीफ़ा करने जा रही है। उनका पाक साफ होना जरूरी है। माहवारी के दिनों में इस वज़ीफ़ा को ना करे।
  • सबसे पहले आपको नहाकर पीले रंग का सूट पहनना है। आपको ऐसे तैयार होना है, मानो किसी की शादी में जाना हो।
  • अब आपको शाम को सूरज ढलने के बाद अपने शौहर के एक फोटो लेकर घर की छत पर चलना है।
  • ज़मीन पर निचे बैठकर शौहर का फोटो अपने सामने रखना है। और अल्लाह के ये चार नामो को 33 बार पढना है।
  • Ya Jabbaru Ya Qadiru Ya Qahhar Ya Muntaqim

अक्सर जब घर में बात मिया बीवी में तलाक़ की बात चलती है, तो आस पड़ोस वाले लोग आपकी ज़िन्दगी के मजे लेते है। लोग चाहते हैं कि आप दोनों का कभी घर ना बसे। लेकिन माँ बाप ही अपने बच्चों को बार-बार समझते है, की तलाक़ से सिर्फ घर बर्बाद होता है और कुछ नहीं। बीवी तलाक़ नहीं देना चाहती है। लेकिन शौहर इतना ज़िद्दी है, कि वो अपनी बीवी के अंदर सिर्फ नफ़रत ही देखता है। उसके दिल में अपनी बीवी के लिए कोई इज्जत कोई रहम नहीं होती है।

Divorce Na Hone Ka Amal

गुस्से में लिया गया फैसला अक्सर बाद में उसका पछतावा होता है। तलाक़ सिर्फ दो जिस्मों की जुदाई नहीं बल्की दो खानदान का अलग होना माना गया है। दो परिवार हमेशा के लिए टूट जाते हैं। तलाक़ में हो सकता है, कि दूसरी बीवी अच्छी मिल जाए, या तलाक़ के बाद औरत को दूसरा शौहर पहले वाले शौहर से बेहतर मिल जाए। लेकिन आपको ये भी मालूम होगा, कि आपके बच्चों का भविष्य हमेशा के लिए खराब हो जाएगा। अगर आप फिर से शौहर को सही रास्ते पर लाना चाहते है, तो आप Divorce Na Hone Ka Amal जरूर करे।

  • जिसे ही अमल का तीसरा दिन होगा, उस दिन आपके शौहर आपसे माफ़ी मांगेगे। दोस्तों हम बस आपसे इतना ही कहना चाहते है, की तलाक हमेशा सोच समझकर ही लेना चाहिए। लेकिन कभी-कभी ऐसा भी होता है, कि बीवी तलाक़ देने के लिए राजी नहीं होती है। बीवी अपने घर को टूटते हुए नहीं देखना चाहती है। लेकिन शौहर जोर जबरदस्ती उसको तलाक़ देना चाहता है। ऐसे में औरत को ये अमल करना बहुत जरूरी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *