किसी की ज़ुबान बंद करने का अमल

किसी की ज़ुबान बंद करने का अमल
5/5 - (1 vote)

किसी की ज़ुबान बंद करने का अमल

किसी की ज़ुबान बंद करने का अमल, “इस दुनिया में ऐसा कोई जीव और मनुष्य नहीं है। जिसका कोई दुश्मन ना हो। वो अपने दुश्मन से बचने के लिए उससे दूरी बना कर रहता है। उसके पास जाने से भी उसको डर लगता है। लेकिन कुछ मामले में आपके दुश्मन आपके घर में, दफ्तर मे आपके साथ रहते हैं। तो ऐसे बुरे हालात में क्या किया जाएगा?

आप सोचते हैं, कि खास ऐसा कोई मंत्र होता है। जिसे एक बात पढ़कर फूंक मार दिया जाये तो, आपके दुश्मन की ज़ुबान हमेशा के लिए बंद हो जाएगी। आप दुश्मन की ज़ुबान बंदी का अमल इंटरनेट या यूट्यूब पर तलाश करते हैं।

आपके हजार कोशिश करने बाद किसी की ज़ुबान बंद करने का अमल मिल भी जाता है। और आप उसको करके भी देखते हैं। लेकिन इसका परिणाम आपको उल्टा देखने को मिलेगा। आपका दुश्मन आपको पहले से ज्यादा परेशान करने के लिए लग जाता है। आपकी रातों की नींद और दिन का चैन आपसे छीन लेता है।

कहते है, की तीर या खंजर के वार का जखम भर जाता है। लेकिन जुबान से किया गया वार पूरी ज़िन्दगी नहीं भर पाता है। लेकिन अब आपको चिंता करने की कोई ज़रूरत नहीं है। क्योकि आज मैं आपको 7 ऐसे शक्तिशाली अमल बताने जा रहा हूं। जिसको करने के बाद आपके दुश्मन का मुंह हमेशा के लिए बंद हो जाएगा।

सास की ज़ुबान बंद करने का अमल

शादी के बाद एक लड़की अपने माँ बाप, भाई बहन, और उनके घर को छोड़कर अपने ससुराल आती है। वो सोचती है, कि जिस तरह से मां बाप ने उसे प्यार दिया, वैसे ही सास ससुर भी उसको प्यार देंगे।

किसी की ज़ुबान बंद करने का अमल

लेकिन होता सब इसका उल्टा है। आपके सारे अरमानों पर पानी तब गिर जाता है। जब ससुराल में आपकी सास पूरा दिन आपसे झगड़ा करती रहती है। बात बात पर आपको भला बुरा कहने लग जाती है। आपका पति भी आपकी अपनी माँ और बहनो का साथ देता है।

ऐसे ससुराल में आपका एक पल भी रुकना मुश्किल हो जाता है। आप मायके में भी नहीं जा सकते है। और ससुराल में भी अपनी सास की जुबान के कारण नहीं रह सकती है। ऐसे में आपके हालात आगे पहाड़ और पीछे खाई जैसे बन जाते हैं।

ऐसे में आपको चाहिए की आपकी सास का मुंह बंद करवाया जाए। जिससे आप अपने ससुराल में ख़ुशी से रख सकें। आज मैं आपकी सास की ज़ुबान बंद करने का अमल बता रहा हूं। इसको मेरे बताए तरीके के अनुसार एक बार कर लिया। जब भी आप सास के सामने जाएंगे, तो आपकी सास की जुबान बंद हो जाएगी। और आपकी सास आपको हमेशा के लिए परेशान करना छोड़ देगी।

  1. इस अमल को आपको लगातार 7 दिन करना है। और आप इसे किसी भी दिन से शुरू कर सकते ह।
  2. अमल को सुबह सूरज की रोशनी में करना होगा। वक़्त की कोई पाबन्दी नहीं है।
  3. ज़मीन पर बैठ जाये, और सामने अपनी सास का एक फोटो रखे।
  4. इस दुआ को 72 बार बोलना है।
  5. दुआ है – सुम्मुन बुकमुन उम्युन फहूम ला यार्जियुम 
  6. दोनों हाथ उठाकर अल्लाह से दुआ मांगनी है, की मेरी सास की ज़ुबान बंद कर दे।

इस अमल को सोच समझ कर ही करे, क्योंकि ये अमल इतना ताकतवर है। क्योंकि आपकी सास की जुबान बंद जिंदगी भर के लिए हो जाएगी। और आपकी सास हमेशा आपकी गुलामी करेगी।

ज़ुबान को ताला लगाने का वज़ीफ़ा

अल्लाह ने कहा है, कोई इंसान अगर आपका बुरा करता है। आपको सबके सामने बुरा बोलता है, तो आप चुप रहें। क्योंकि चुप रहने में इतनी ताकत है। उसकी बोलती अपने आप बंद हो जाएगी। लेकिन समाज में कुछ ऐसे बुरे लोग होते हैं। जिनका ना चाहकर हमें जवाब देना पड़ता है। आज आपका जबाब बोल कर नहीं बाल्की दुश्मन की जुबान बंद करके दिया जाएगा।

किसी की ज़ुबान बंद करने का अमल

आज कल कोई किसी को आगे बढ़कर देखकर खुश नहीं है। लोग आपसे जान-बूझ कर लड़ाई मोल लेते हैं। ताकि उनके जैसे आप भी बन जाओ। अगर आपके आस पड़ोस में कोई ऐसा पडोसी है, या फिर आपके दुकान के पास कोई ऐसा दुकानदार है। जो आपको सुबह से लेकर रात तक अपशब्द बोलता रहता हो।

आप अपने दुश्मन से हमेशा के लिए छुटकारा पाना चाहते हैं। या फिर आप ये चाहते हैं, कि उसको बर्बाद और किसी का बुरा नहीं करके सिर्फ उसकी गंदी जुबान पर ताला लगा दिया जाए। तो दोस्तो इसके लिए हम एक ऐसा ही किसी ज़ुबान को ताला लगने का वज़ीफ़ा लेकर आये है।

  1. शाम के समय बाजार से एक ताला और चाबी खरीद कर ले आये।
  2. रात को 11 बजे एक दुश्मन का फोटो और ताला लेकर किसी सुनसान जगह पर चले जाना है।
  3. सबसे पहले आपको ज़मीन में हथेली जितना गाढ़ा करना है।
  4. अब आपको दुश्मन का फोटो सस गधे में डालना है, और फोटो के ऊपर ताला चाबी रख देना है।
  5. अब आपको इस शक्तिशाली वज़ीफ़ा को 3 बार बार बोलना है।
  6. रब्बी नज्जिनी मीनल कौमी ज़ालिमीन
  7. आख़िर में मिट्टी डालकर गढ़े को भर देना है और घर चले आना है।

अगर इस क़ुरानी वज़ीफ़ा को एक बार आपने यकीन के साथ कर लिया तो, आपके दुश्मन के मुंह पर ऐसा ताला लग जाएगा। और जब भी वो आपके सामने से गुजरेगा, तो उसका सर आपके सामने झुक जाएगा। और उसकी बोलती बंद हो जायेगी।

दुश्मन का मुँह बंद करने का अमल

कुछ लोग जरुरत से ज्यादा बोलते है। इनकी ये बुरी आदत हर किसी को पसंद नही होती है। दुश्मन चाहे 1 हो या हजार दोनों ही आपको बर्बाद करने के लिए काफी है। आपका दुश्मन आपसे हज़ारो किलोमीटर भी दूर हो सकता है, और आपका दुश्मन आपके घर के अंदर भी हो सकता है। आज के समय में लोग छोटी छोटी बातों को लेकर दुश्मन बन जाते है।

किसी की ज़ुबान बंद करने का अमल

आज के समय में लोगो के दोस्त कम दुश्मन ज्यादा होते हैं। दुश्मन को आपकी हर चाल का पता होता है। आपके हर दिल के राज़ का उसको अच्छे से पता होता है। वो आपके सामने तो मोहब्बत से पेश आएंगे। लेकिन आपके पीठ पीछे दूसरे के सामने आपकी बुराई करेंगे।

अगर वो अपना मुँह लोगो के सामने खोल देता है। तो आपकी पूरी जिंदगी बर्बाद भी हो सकती है। इसलिए आप चाहते हैं, कि दुश्मन का मुंह हमेशा बंद रहे, ज़ुबान बंद करने का अमल, और लोगो के सामने आपकी तारीफ और इज्जत करे। उसके लिए आपको ये वाला अमल करना जरूरी है।

  1. अमल बहुत आसान है। बस आपको इसको बिल्कुल ध्यान से करना है।
  2. जब भी आपका दुश्मन आपके सामने आए, तो इस वज़ीफ़ा को 11 बार पढ़ना है।
  3. (सूरह कव्थर: 3)- इन्ना शनि-उर्फ हुवा अल-अबतर
  4. वज़ीफ़ा पढ़ने के तुरंत बाद अपने हाथ मुक्का सिर्फ 1 बार ज़मीन पर ज़ोर से मरना है।
  5. उसी वक़्त आपका दुश्मन आपके पैरो के पास गिरकर आपसे माफ़ी मागेगा।

दोस्तों ये जुबान बंदी का बड़ा ही जबरदस्त अमल है। इस अमल के ज़रिये अल्लाह के फरिश्ते आपके दुश्मन की ज़ुबान बंद कर देंगे।  इस अमल को करने से दुश्मन कभी भी अपने मुँह से आपके लिए एक शब्द तक नहीं निकल पाएगा।

ज़ुबान पर लगम लगने की दुआ

आपके दोस्त या परिवार में कुछ ऐसे लोग होते हैं, जिनकी जुबान कांची की तरह सुबह शाम चलती रहती है। आपके लाख समझने के बाद भी उनका मुंह बंद नहीं होता है। और आपको परेशान होकर उनके पास से उठाकर चले जाना पड़ता है।

किसी की ज़ुबान बंद करने का अमल

आज का अमल भी ऐसे लोगो के लिए है, जो बिना किसी मतलब के दिन रात बस बोलते रहते है। कुछ लोग तो ऐसे होते हैं जो रात को नींद में भी बोलते रहते हैं। ऐसे लोगो का इलाज सिर्फ आज की एक दुआ करेगी।

इस दुआ के असर से आप किसी के भी जुबान पर लगाम लगा सकते हैं। जिस तरह घोड़े की लगाम खिंचने से वो चलना बंद कर देता है। उसी प्रकार इस दुआ के असर से आपका दोस्त या दुश्मन उसकी जुबान पर भी पर भी हमेशा के लिए लगाम लग जाएगी।

  1. इस अमल को खुले आसमान के नीचे करना है। आप चाहे तो घर की छत पर भी कर सकते है।
  2. अमल किसी भी दिन कर सकते है। और अमल सिर्फ एक ही दिन का रहेगा।
  3. जो भी आपको परेशान करता है, उसकी एक फोटो ले।
  4. फोटो के ऊपर चार कोने वाले दीपक रखकर उसमें सरसों का तेल डालकर रोशन करें।
  5. अपने दिमाग में उसका नाम लेकर इस मंत्र को 11 बार बोल दे।
  6. दुआ ये है – वल्लाहु ग़ालिबुन अला अमरिही

इस दुआ के असरात से आपका दुश्मन के मुँह पर नकेल कस जायेगा। आपके कहने पर ही आपकी बात का जबाब देगा। फिजूल बातें करना हमेशा के लिए भूल जाएगा।

बॉस की जुबान बंदी का अमल

अगर आपके ऑफिस का बॉस या दुकान का सेठ आपको काम के नाम पर परेशान करता है। आपको नौकरी से निकलने की बात बार-बार करता है। आपको ऐसा अहसास करवाता है, की आप उसके नौकर हो। छुट्टी मांगे तो आपको छुट्टी के बदले और भी ज्यादा काम दे देता है। आपको नौकरी के नाम पर ब्लैकमेल करता है। आज के इस खास अमल से आपके बॉस की जुबान पर लॉक लग जायेगा।

किसी की ज़ुबान बंद करने का अमल

बॉस के ऐसे करने से आप परेशान हो चुके हैं। आपका दिल तो बहुत करता है, की नौकरी को आज ही छोड़ दे। लेकिन फिर सोचते हैं, कि नोकरी छोड़ दी। तो कहीं कही दूसरी जगह नौकरी नहीं मिल पायेगी। बस इसी सोच के कारन आप बॉस की बातों से परेशान होते रहते है। और इसी डर की वजह से आप हर रोज बॉस के ज़ुलम सहते जाते है। लेकिन आज के बाद आपको बॉस के टॉर्चर सहने की जरुरत नहीं पड़ेगी। और आपकी नौकरी भी नहीं जाएगी।

  1. अमल शुरू करने से पहले किसी गरीब को खाना खिला दे।
  2. इस अमल को बॉस के ऑफिस में ही करना है।
  3. इस अमल को एक दिन से ज्यादा न करे।
  4. सबसे पहले 2 रकात नफिल के बाद सौराह क़ौसर और सूरह कद्र पढ़कर 101 मर्तबा या कदिरु पढ़ना है।
  5. उसके बाद अल्लाह से दुआ करे, की आपके बॉस के दिल में आपके लिए मोहब्बत पैदा हो जाये।

इस अमल के बाद आपका बॉस आपके सामने बोल नहीं पाएगा। आपकी हर बात ऐसा मानेगा, जैसे की आप उसके बॉस हो। आपके बॉस की ज़ुबान आपके सामने कभी नहीं चलेगी।

शौहर की जुबान बंद करने का अमल

अक्सर आप किसी भी शादीशुदा जोड़ी को देखते हैं, तो उनमे से एक बिल्कुल चुप चाप रहता हैं। और दूसरा पूरा दिन बिना किसी बात के बोलता रहता है। घर में पत्नी ज्यादा बोलती है, तो शौहर गुमसुम स्वभाव का होता है। वही अगर शौहर का मुंह सारा दिन चलता है, तो पत्नी भोली और शांत स्वभाव की होती है।

किसी की ज़ुबान बंद करने का अमल

कुछ औरतों के शौहर ऐसे होते हैं, कि अपनी बीवी को बात-बात पर सबके सामने ज़लील करते हैं। उनको अपशब्द बोलते हैं, जुबान बंद करने का अमल, ऐसे हालात में औरत अपने शौहर को छोड़ भी नहीं सकती हैं। और उसके साथ रह भी नहीं रह सकती है। ऐसे में आप चाहते हैं की, आपके शौहर का मुंह बंद हो जाएगा।

शादी से पहले दिखने वाला शौहर अचानक शादी के बाद ऐसा बन जाता है, कि सारा दिन बीवी से जुगलबंदी करता रहता है। बीवी चुप हो जाती है, लेकिन शौहर की बोलती बंद नहीं होती है।

  1. इस अमल को तब करना है। जब आपके शौहर घर से बाहर गए हो।
  2. आपको 1 लौंग लेनी है, उन लौंग को सीधे हाथ की मुट्ठी में बंद करना है।
  3. उसके बाद अपने शौहर की फोटो सामने रखकर इस मंत्र को 13 बार बोलना है।
  4. मंत्र है – सोम कमरू मंगल बमरू
  5. अब हर सुबह अपने शौहर की चाय में 1 लौंग डालकर। शौहर को चाय पिला देनी है।
  6. ऐसा आपको 3 दिन सुबह करना है।

इस खास अमल को करने के बाद आपका शौहर चुप रहेगा। आपकी हर बात मनेगा। लोगो के सामने आपकी तरफ करने लग जायेगा। शौहर की बुरी ज़ुबान से हमेशा के लिए निजात पा सकते है।

इसे भी जरुर पढ़े – दुश्मन को सजा देने का अमल

किसी की जुबान बंद करने की दुआ

जब कोई इंसान आपके ऊपर ज़ुल्म पर ज़ुल्म किये जाता है। और आप खामोशी से उसको देखते रहते हैं, ज़ुबान बंद करने का अमल, आख़िर में ऐसा समय आता है। जब आपका दुश्मन आपको बर्बाद करने की सारी हदें पार कर देता है। आपको भला बुला बोलने लग जाता है। उसकी कह गई बातें आपके दिल पर तीर के जैसी लगती है।

किसी की ज़ुबान बंद करने का अमल

किसी भी इंसान को जब आप पहेली बार मिलते है, तो उसके स्वभाव के बारे में पता नहीं चल पाता है। जब आप उससे घुल मिल जाते है। तब उसका असली चेहरा देखने को मिलता है।

आपके रिश्तेदार, सास, बॉस, पडोसी, प्रेमी, प्रेमिका इन सब को चुप करवाने का सिर्फ एक ही अमल काफी है। इस अमल की तासीर इतनी गर्म है। इसका असर तुरंत आपको देखने को मिल जाता है।

  1. शनिवार की शाम सूरज ढलने के बाद आपको 11 काले चने लेने है।
  2. हर एक चने के दाने पर इस अल्लाह के पाक नाम को पढ़ना है- अल अस्मा उल हुस्ना
  3. अब आपको वह जाना है, जहाँ रोज़ पंछी दाना चुगते हो।
  4. और उन 11 काले के दाने को वहां डालकर अपने दुश्मन का नाम एक बार अपने मन से बोलना है।
  5. अमल के दूसरे दिन से आपके दुश्मन के अंदर असर दिखना शुरू हो जायेगा। उसकी बोलती धीरे धीरे करके बंद होती जाएगी।

इस अमल को करने से पहले आप ये अच्छे से याद रखें। अगर आप जैसी नियत के साथ इस अमल को करेंगे। तभी इस अमल की बरकत होगी। अगर आप इस अमल का किसी गलत काम में इस्तेमाल करेंगे, तो इसका असर उल्टा आपके ऊपर ही पड़ जाएगा।

ज़ुबान बंदी की आयत-

अगर आपको  किसी व्यक्ति से डर लगता है। उसकी बातें आपके दिल पर लगती है, तो आप ईशा और फजर की नमाज के बाद इस दुआ मुबारक को 21 बार पढ़े। सूरह कुरैश 106 – अमहुम मिंजु ‘इनव-वा अमानहुम मिन ख़ौफ़ 

ज़ुबान बंदी की दुआ-

कोई शख्स बिना वजह आपको तंग और परेशान करता है। आपको जलील करने का मौका अपने हाथ से जाने नहीं देता है, तो आप रात को सोने से पहले ये ज़ुबान बंदी की शक्तिशाली दुआ पढ़े। अल्लाहुम्मा बिस्मिका अमूतु व अहया

किसी की ज़ुबान बंदी का वज़ीफ़ा-

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *